अनलॉक 5.0 में सभी क्लास के लिए खुलेंगे स्कूल!, जानें क्या है सरकार की योजना,

 

देश में लगातार कोरोना (Coronavirus) के मामले बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में स्कूल कॉलेज खोलने को लेकर संशय की स्थिति बनी है. इस बीच 21 सितंबर से देश के कई राज्यों में आंशिक तौर से स्कूल (School Reopening News) खोले जा चुके हैं, लेकिन अभी भी ज्यादातर राज्यों में स्कूल बंद हैं. राज्य सरकरों के साथ बच्चों के अभिभावक भी कोरोना काल में बच्चों को स्कूल भेजने के बारे में कोई ठोस निर्णय नहीं ले पा रहे हैं. ज्यादातर राज्यों में अभी भी बच्चे ऑनलाइन (Online Classes) पढ़ाई पर ही निर्भर हैं. अब उम्मीद है कि सरकार स्कूल कॉलेज को सुचारु रूप से खोलने के लिए अनलॉक 5.0 की (School-Colleges Reopen in Unlock5) गाइडलाइन में कुछ नियम तय करेगी.

आपको बता दें कि इस समय भारत कोरोना वायरस लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) के बाद अनलॉक के चौथे चरण में हैं और इसके लिए केंद्र सरकार की तरफ से अगस्त में गाइडलाइन जारी की गई है. इस गाइड लाइन में 9वीं कक्षा लेकर 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए स्कूल खोलने (Guideline for School Reopening) की बात कही गई थी. इसके लिए सरकार ने कुछ नियम तय किए थे जिसमें सरकार ने स्पष्ट तौर पर इस बात पर जोर दिया था कि कोरोना काल में स्कल की तरफ से किसी भी छात्र को स्कूल आने के लिए जोर नहीं डाला जाएगा.

इसी के साथ यह भी कहा गया था कि जो भी छात्र टीचर्स से परामर्श लेने के लिए स्कूल जाएंगे उन्हें पहले अपने पैरेंट्स से एक नोट लिखा कर इजाजत लेनी पड़ेगी. अब अक्टूबर शुरू होते ही देश अनलॉक के पांचवे चरण में प्रवेश करेगा. केंद्र सरकार अनलॉक 5.0 को लेकर एक दो दिन के अंदर गाइडलाइन जारी कर सकती है. हालांकि अभी कोरोना के बढ़ते मामले स्कूल कॉलेज को खोलने की राह में सबसी बड़ी अड़चन हैं और इसी वजह से अभिभाव भी स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं. 

अनलॉक 5.0 की गाइडलाइन में उम्मीद है कि सरकार स्कूल को पहले की तरह सभी क्लासेस के लिए खोलने की अनुमति दे सकती है. हालांकि इसके लिए कुछ नियम निर्धारित किए जा सकते हैं. फिलहाल अभी तक सरकार की तरफ से स्कूल कॉलेज को लेकर किसी भी तरह की कोई जानकारी नहीं दी गई है. पिछले 6 महीनें से कोरोना वायरस की वजह से पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हुई है तो इस बात की उम्मीद ही जताई जा रही है कि सरकार अब स्कूल को पहले की तरह फिर से चलाने की इजाजत दे सकती है. यह तो अनलॉक 5.0 की गाइडलाइन में ही साफ हो पाएगा कि बच्चे 1 अक्टूबर से स्कूल जा पाएंगे या फिर कुछ महीनों का फिर से करना पड़ेगा इंतजार.

जिन राज्यों में स्कूल खोले गए हैं उनमें अभी भी पहले की तरह क्लासेस नहीं शुरू की गई है. छात्र केवल परामर्श के लिए स्कूल पहुंच रहे हैं. जहां प्राइवेट संस्थान खोले गए हैं वहां कई तरह के नियम भी निर्धारित हुए हैं. यूपी के लखनऊ में प्राइवेट संस्थानों ने स्कूल को दो शिफ्ट में चलाने का फैसला किया है ताकि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे. स्कूल प्रशासन काफी ऐहतियात बरत रहा है. बच्चों के आने के लिए एक की जगह दो गेट भी ओपेन किए गए हैं. एक क्लास में मात्र 20 छात्रों के बैठने की व्यवस्था की गई है. बच्चे टिफिन की शेयरिंग नहीं कर सकेंगे.

Comments are closed.