अभी अभीः CAA पर दिल्ली में आमने सामने आये दोनों समुदाय, जमकर पथराव, भगदड, लाठीचार्ज

बताया जा रहा है कि कबीरनगर मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के समर्थक और विरोधी एक-दूसरे पर पथरबाजी करने लगे, जिसके चलते यहां की गलियों में भगदड़ मची हुई है। इस पथराव में एक शख्स घायल हुआ है, जिसे पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस दोनों पक्षों से हो रही पथरबाजी को रोकने की हर संभव कोशिश में जुटी है। लोगों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे हैं। बता दें कि मौजपुर में जहां बीजेपी नेता कपिल मिश्रा के समर्थक जमा हैं वहां से महज आधा किलोमीटर दूर जाफराबाद में सीएए के विरोधी जमा हैं।
सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच जारी टकराव के चलते दिल्ली मेट्रो (DMRC) ने मौजपुर ओर बाबरपुर मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया है। बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा है कि जाफराबाद प्रदर्शन के विरोध में और CAA के समर्थन में वह रोड पर उतरे हैं। उन्होंने कहा कि हम दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग नहीं बनने देंगे।

कपिल मिश्रा ने विडियो ट्वीट कर कहा है, ‘मौजपुर चौक पर जाफराबाद के सामने, कद बढ़ा नहीं करते एड़ियां उठाने से, CAA वापस नहीं होगा, सड़कों पर बीबियां बिठाने से।’ एक अन्य ट्वीट में कपिल मिश्रा ने कहा, ‘दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग नहीं बनने देंगे।’ इससे पहले कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर लोगों से सीएए के समर्थन में रोड पर उतरने की अपील की। बताया जा रहा है कि सीएए के विरोध और समर्थन में प्रदर्शन के चलते पूरा मौजपुर चौराहा ब्लॉक हो गया है।
दिल्ली के शाहीन बाग में 71 दिनों से सीएए के विरोध में जमा लोगों के खिलाफ रविवार को लोग दक्षिण-पूर्व दिल्ली के सरिता विहार और जसोला इलाके के निवासी हाथों में बैनर लिए शाहीनबाग में सड़क पर बैठ गए। बैनर में लिखा था, ‘महिलाओं और अबोध बच्चों को ढाल बनाकर अन्य महिलाओं व बच्चों को परेशान करने की साजिश बंद करें।’
उधर, सीएए के विरोध में हो रहे प्रदर्शन के चलते जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर एक तरफ का रोड बंद है, तो वही मेट्रो स्टेशन पर न तो मेट्रो ठहर रही है और न ही लोगों को अंदर और बाहर जाने दिया जा रहा है।

शनिवार देर रात करीबन 200 से 300 महिलाओं ने आकर मेट्रो के नीचे प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था, जिसके बाद वहां बड़ी संख्या में पुलिस के जवान और अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया गया। महिला प्रदर्शनकारियों को देखते हुए महिला जवानों को भी तैनात किया गया है। अभी फिलहाल जिस रास्ते पर प्रदर्शनकारी बैठे हैं, वहां एक तरफ रोड खुली हुई है जिसकी वजह से जाम भी लग रहा है।
प्रदर्शनकारी महिलाओं ने रोड नंबर 66 जाम कर रखा है, जिस सड़क पर महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं, वह सड़क सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ती है। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने बताया कि शाहीन बाग की तरह वे भी सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन करेंगी। सभी महिलाओं ने हाथ में तिरंगा लिया हुआ है और आजादी के नारे भी लगा रही हैं।
साथ ही प्रदर्शन में शामिल कई महिलाओं ने अपनी बांह पर नीला बैंड लगा रखा है और जय भीम का नारा लगा रही है। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने प्रमोशन में आरक्षण को लेकर आज 23 फरवरी को भारत बंद बुलाया है, जिसका असर भी देश में देखने को मिल रहा है और प्रदर्शनकरियों का ये भी कहना है कि भारत बंद को देखते हुए भी हमने ये सड़क बंद किया है।
बीजेपी नेता विजय गोयल ने जाफराबाद में हो रहे प्रदर्शन के मामले पर कहा, ‘यह नियोजित तरीके से हो रहा है, विपक्षी दल इसके पीछे हैं जो मोदी जी को हरा नहीं पाए। कानून संसद में पास किया गया है उसके बाद इस तरीके से करना गलत है और अभी इसको फैलाया जा रहा है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘पुलिस चाहती तो कोई भी एक्शन ले सकती थी, लेकिन बच्चे-महिलाएं हैं, इस वजह से हम नहीं चाहते की किसी तरीके की हिंसा हो।’ विजय गोयल ने दिल्ली सरकार को घेरते हुए कहा, ‘केजरीवाल को बस राजनीति करनी है।’

Comments are closed.