इस राज्य में 5 अक्टूबर से खुलेंगे स्कूल, इन नियमों का करना होगा पालन

त्रिपुरा के सभी सरकारी और सहायता प्राप्त स्कूल 5 अक्टूबर (School Reopen from 5 October) से फिर से खुलेंगे जो कोविड -19 महामारी के कारण मार्च से बंद थे. यह निर्णय सिविल सचिवालय में शिक्षा विभाग (Education Department) की एक उच्च-शक्ति समिति की बैठक में लिया गया, जिसमें त्रिपुरा विश्वविद्यालय (केंद्रीय) और महाराजा बीर बिक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति और प्राथमिक और उच्च शिक्षा विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया था.

इस फैसले के तहत 50 प्रतिशत शिक्षक प्रतिदिन स्कूलों के रोटेशन-वार में भाग लेंगे. कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्र अपने माता-पिता की लिखित सहमति लेने के बाद ही कक्षाओं में भाग ले सकते हैं. शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ ने गुरूवार को बैठक के बाद (Education Minister Ratan Lal) कहा, “हमने 05 अक्टूबर से स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है. कक्षा 9वीं से 12 वीं के छात्र अपने विषय से संबंधित प्रश्नों के बारे में शिक्षकों से सलाह लेने के लिए स्कूलों में आ सकते हैं, लेकिन उन्हें पहले अपने माता-पिता की लिखित सहमति लेनी होगी.” राज्य में लगभग 4,400 सरकारी स्कूल हैं.

Whatsapp पर शेयर करें

शिक्षा विभाग ने महामारी के दौरान स्थानीय टीवी चैनलों, छात्रों के हेल्पलाइन कॉल सेंटर, छात्रों के लिए एसएमएस आधारित कक्षाओं में ऑनलाइन कक्षाएं, वीडियो लेक्चर सत्र शुरू किए हैं. विभाग ने 20 अगस्त से 1: 5 शिक्षक-छात्र अनुपात के साथ सभी छात्रों के लिए पड़ोस की कक्षाएं शुरू कीं, विशेष रूप से उन लोगों के लिए जो गैजेट की कमी के कारण ऑनलाइन कक्षाएं नहीं ले पा रहे हैं. लेकिन कोविड -19 मामलों में वृद्धि और इससे संबंधित मौतों के कारण इसे एक सप्ताह के भीतर बंद कर दिया गया था.

Whatsapp पर शेयर करें

Comments are closed.