एलएसी पर युद्धक तैयारियों की समीक्षा बैठक आज, राजनाथ और रावत कल करेंगे संबोधित

चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर जारी तनाव के बीच सेना के शीर्ष कमांडर सोमवार को लद्दाख व आसपास के इलाकों में युद्धक तैयारियों का जायजा लेंगे। सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे की अध्यक्षता में होने वाली चार दिवसीय इस समीक्षा बैठक में सेना में अंदरून सुधारों पर भी चर्चा होगी।

सूत्रों के मुताबिक बैठक में देश के समक्ष सुरक्षा चुनौतियों पर समग्र चर्चा होगी। साथ ही पूर्वी लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के इलाकों में स्थिति की भी समीक्षा की जाएगी। सेना प्रमुख पूर्वी लद्दाख में युद्धक तैयारियों का जायजा लेंगे। एलएसी पर चीनी सैनिकों के साथ मई में हुए गतिरोध के बाद से पूर्वी लद्दाख में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। एलएसी पर दोनों देशों के 50 हजार से अधिक सैनिक तैनात हैं।

बैठक में इसके अलावा संसाधनों के तर्कसंगत वितरण को सुनिश्चित करने के लिए औपचारिक प्रथाओं और गैर-सैन्य गतिविधियों में कटौती करने पर विचार होगा। बैठक में सभी सैन्य कमांडर, सेना मुख्यालय के प्रधान स्टाफ ऑफिसर्स और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे।

राजनाथ, रावत कल करेंगे संबोधित

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह मंगलवार को बैठक को संबोधित करेंगे। सूत्रों के मुताबिक बैठक में सोमवार को सेना में मानव संसाधन प्रबंधन से संबंधित मामलों पर विचार-विमर्श होगा, जबकि बुधवार को कमांडरों द्वारा पेश किए गए विभिन्न एजेंडा बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी।

सेना दिवस कार्यक्रम में कटौती पर भी चर्चा

सूत्रों के मुताबिक बैठक में सेना दिवस और क्षेत्रीय सेना दिवस परेड के कार्यक्रम में कटौती पर भी चर्चा होगी। इसमें परेड बंद करने या फिर इसका स्वरूप कम करने पर विचार-विमर्श होगा।

इसके अलावा पीस स्टेशनों पर ऑफिसर्स मेस की संख्या कम करने पर भी बातचीत होगी। वहीं वरिष्ठ अधिकारियों के आवासों पर सुरक्षा गार्ड कम करने पर भी मंथन होगा। साथ ही सभी यूनिटों से रेजिंग डे और बैटल हॉनर डे के आयोजनों के लिए खर्चे में भी कटौती करने को कहा जाएगा।

Whatsapp पर शेयर करें

Comments are closed.