कर्मो के देवता शनिदेव को पसंद है इन चीजों की भेंट

अच्छे और बुरे कर्मों के देवता शनि की पीड़ा समाप्त करने के लिए लोहे का छल्ला धारण किया जाता है। यह छल्ला अगर घोड़े की नाल या नाव की कील से बना हो तो ज्यादा लाभकारी होता है। इस छल्ले को धारण करने के लिए जो अंगूठी बनाई जाती है, उसको आग में नहीं तपाया जाता है।

शनिदेव की 5 सबसे प्रिय चीजें:

# लोहे का छल्ला: शनिवार को इसको सरसों के तेल में थोड़ी देर रख दें, फिर जल से धोकर दाहिने हाथ की मध्यमा अंगुली में धारण करें।

# सरसों का तेल: अगर शनि के कारण चीज़ें रुक गयीं हों और जीवन में कोई सफलता नहीं मिल पा रही हो तो सरसों के तेल का विशेष प्रयोग करें।

# काली उरद की दाल और काला तिल:शनि के कारण धन की समस्याओं में काली उरद की दाल या काले तिल का प्रयोग करें। शनिवार को सायं काल सवा किलो काली उरद की दाल या काला तिल किसी निर्धन व्यक्ति को दान करें।

# दान करें: दान करने के साथ ही साथ आपकी आर्थिक समस्याएँ समाप्त हो जायेंगी। जिस शनिवार को काली दाल या या काला तिल दान करें उस दिन स्वयं इसे न खाएं।

# लोहे के बर्तन जैसा तवा, कराही, चिमटा: शनिवार को शाम को किसी निर्धन व्यक्ति को तवा , कराही या लोहे के बर्तन दान करने से दुर्घटना के योग टल जाते हैं।

Comments are closed.