कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से इस देश ने लगाया दूसरा लॉकडाउन

कोरोना वायरस (Coronavirus Update) का संक्रमण दुनियाभर में बढ़ता जा रहा है। भारत में रोजाना 75 हजार से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। इस बीच कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इजराइल (israel lockdown) ने देश में दूसरा लॉकडाउन लागू कर दिया है। इजराइल के तीन हफ्ते के लॉकडाउन दूसरा हफ्ता शुरू होने जा रहा है। इजराइल ने दूसरे लॉकडाउन को पहले से ज्यादा सख्त बनाया है। नए नियमों ने कार्यस्थलों, बाजारों, प्रार्थनाओं और प्रदर्शनों को सीमित कर दिया है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने बुधवार देर रात कहा, “पिछले दो दिनों में हमने विशेषज्ञों से सुना है कि अगर हम तत्काल और कठोर कदम नहीं उठाते हैं, तो हम एक खतरनाक स्थिति में पहुंच जाएंगे। 

सरकार का ताजा कदम देश में पिछले शुक्रवार को लगाए गए तीन सप्ताह के लॉकडाउन के दूसरे सप्ताह में प्रवेश करने की ओर अग्रसर है, जिसमें स्कूलों को बंद करना, काम और अवकाश पर कड़े प्रतिबंध शामिल हैं। संसद में गुरुवार को बाद में अनुमोदित किए जाने वाले नए उपायों के तहत, आराधनालय को केवल एक यहूदी छुट्टी योम किप्पुर पर खोलने की अनुमति दी जाएगी, जो रविवार दोपहर से शुरू हो रहा है। 

Whatsapp पर शेयर करें

अन्य समय में केवल बाहरी प्रार्थना में अधिकतम 20 लोगों के भाग लेने की अनुमति होगी। प्रदर्शनों पर समान प्रतिबंध लागू किए गए हैं। नेतन्याहू ने कहा, “इजरायल के नागरिकों के जीवन को बचाने के लिए हमें अब दो सप्ताह के लिए पूर्ण तालाबंदी करने की जरूरत है।” यह अर्थव्यवस्था के लिए भी आवश्यक है। जो कोई भी सोचता है कि हम उग्र महामारी के साथ काम कर सकते हैं, यह सोच गलत है। 

हम मृत्यु और संक्रमण की ओर बढ़ रहे हैं। सरकार ने कहा कि तेल अवीव के बाहर बेन गुरियन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को बंद करने का फैसला गुरुवार को किया जाएगा। पिछले एक पखवाड़े के AFP टैली के अनुसार, इजराइल में दुनिया की सबसे अधिक कोरोनोवायरस संक्रमण दर है। नौ लाख की आबादी में से 1,335 मौतों के साथ 200,000 से अधिक कोरोनोवायरस मामले दर्ज किए गए हैं।

हालांकि नेतन्याहू को विपक्षी राजनेताओं की तीखी आलोचना का सामना करना पड़ा है। विपक्ष का कहना है कि प्रधानमंत्री सैकड़ों लोगों को बेरोजगारी और अर्थव्यवस्था को कुचलने के लिए धक्का दे रहे हैं। विपक्ष गुरुवार को अनुमोदन के लिए संसदीय समिति के सामने आने के बाद उपायों को बदलने पर जोर देगी। इजरायल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को 6,808 नए कोरोनावायरस केस दर्ज किए। साथ ही 54,364 जांच की गई हैं। आपातकालीन चिकित्सा सेवा मैगेन डेविड एडोम के अनुसार, कुछ अस्पतालों में क्षमता फुल हो गई है और लोगों को दूर करना पड़ रहा है। कुछ मरीजों को एम्बुलेंस में घंटों इंतजार करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। 

Whatsapp पर शेयर करें

Comments are closed.