कोरोना के साथ साथ हो रहा डेंगू, हो सकता है और भी ज्यादा खतरनाक

देश में कोरोना महामारी थमने का नाम नहीं ले रही है, ऐसे में एक अन्‍य बीमारी ने उसका साथ पकड़ लिया है, जिसने डॉक्‍टरों के माथे पर भी बल जा दिया है। जानकारी के अनुसार, कोरोना के अलावा देश में मौसमी बीमारियों ने चिंता बढ़ा दी है। बदलते मौसम के साथ, इन्फ्लूएंजा और टाइफाइड से होने वाले मच्छरों के कारण डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया का खतरा बढ़ जाता है। इन दिनों डेंगू बढ़ रहा है। कोरोना और डेंगू का बढ़ता प्रकोप भी खतरनाक होता जा रहा है। दोनों रोगों के हमलों से जूझ रहे रोगियों के उपचार के लिए कोई मानक प्रोटोकॉल भी नहीं है। डॉक्टर भी इस समय मुश्किल में हैं।

कोरोना और डेंगू का दोहरा प्रसारण

Whatsapp पर शेयर करें

वर्तमान में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को कोरोना के इलाज के लिए दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें एक दिन बाद डेंगू का भी पता चला था। उन्हें गुरुवार शाम साकेत के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह 14 सितंबर को कोरोना पाए गए। विशेषज्ञों का कहना है कि संतुलित प्रयासों की आवश्यकता है, क्योंकि कोरोना और डेंगू के बढ़ते संक्रमण से पीड़ित रोगियों के उपचार के लिए कोई मानक प्रोटोकॉल नहीं है

सबसे अच्छा उपाय सावधानी

जीटीबी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक राजीव रौतेला का कहना है कि सबसे अच्छा तरीका है, जितना संभव हो उतना सावधान रहें। मच्छरों के प्रजनन के आधार पर पानी न छोड़ें। दोनों बीमारियों का कोई इलाज नहीं है। इसका इलाज केवल लक्षणों के आधार पर किया जाता है। लोगों को इससे सावधान रहने की जरूरत है।

Whatsapp पर शेयर करें

Comments are closed.