क्या आप जानते है पितृ दोष क्या होता है जाने इस बारे में

हाल ही में शुक्रवार से पितृपक्ष शुरु हो चुके हैं ऐसे में श्राद्ध कर्म के दौरान लोग अपने पितरों के लिए पिंडदान, तर्पण, हवन और अन्न दान करते हैं। वहीं पूर्वजों के प्रति श्रद्धा प्रकट करने का यह पर्व माना जाता है। पितृदोष की तो व्यक्ति की कुंडली के नवम भाव को पूर्वजों का स्‍थान माना जाता है और नवग्रह में सूर्य स्‍पष्‍ट रूप से पूर्वजों के प्रतीक माने जाते हैं।

इस तरह करें पितृदोष की पहचान:

# अगर व्यक्ति के घर में लगातार धन की कमी है तो पितृदोष होता है। अगर घर के किसी व्यक्ति की शादी में बार-बार दिक्कतें आ रही हो तो पितृदोष होता है।

# अगर परिवार में हमेशा कलह का वातावरण हो तो पितृदोष होता है। अगर घर में हर समय कोई न कोई बीमार रहता है तो पितृदोष होता है।

पितृ दोष दूर करने के उपाय:

# अगर पितृ दोष है तो किसी भी अमावस्या, पूर्णिमा या पितृ पक्ष में श्राद्ध कर्म करें या घर की महिलाएं रोजाना स्‍नान करने के बाद ही रसोई में भोजन बनाने के लिए जाएं।

# खाने की पहली रोटी गौ माता के लिए निकालकर उस पर गुड़ रखकर गाय को खिलाना दें।

Comments are closed.