चीन ने पहली बार बताया गलवान झड़प में कितने मारे गए थे सैनिक?

चालबाज चीन झूठ बोलने में माहिर है। दुनिया मानती है कि चीन जो बोलता है वह सच नहीं होता। चीन बोलता कुछ है और करता कुछ है। भारत के साथ सीमा विवाद (India China Faceoff) के बीच चीन ने गलवान भारतीय सैनिकों के साथ हुई झड़प में मारे गए अपने सैनिकों के बारे में पहली बार खुलासा किया है। चीन ने पहली बार माना है कि बीच चीन 15-16 जून को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प (Galwan Valley Dispute) में उसके भी सैनिक मारे गए थे। हालांकि चीन ने इसबार भी झूठ बोला है।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक चीन ने भारत के साथ वार्ता के दौरान माना है कि उसके गलवान में हुई हिंसक झड़प में उसके 5 सैनिक मारे गए हैं। जबकि इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। वहीं दुनियाभर से आए आंकड़े के मुताबिक इस झड़प में चीन के कम से कम 43 सैनिक हताहत हुए थे। जबकि दुनिया अन्य देशों की खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक उस झड़प में चीन के तकरीब 100 सैनिक हताहत हुए थे। साथ ही चीन ने यह भी माना है कि उस झड़प में उसका एक कमांडिंग ऑफिसर भी मारा गया था।

आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच लद्धाख में एलओसी के पर बेहत तनाव पूर्ण हालात है। हालांकि दोनों देश इसे कम करने के लिए लगातार बातचीत कर रहे हैं। ताजा विवाद को खत्म करने के लिए अब तक भारत के चीन के सैन्य अधिकारियों के बीच 6 बैठकें हो चुकी है। दोनों देश विवाद को सुलझाने के लिए आगे भी वार्ता करते रहेंगे।

भारतीय सैन्य अधिकारियों का मानना है कि चीन पूर्वी लद्दाख में पिछले एक साल से जमीन कब्जाने की योजना बना रहा था और जिस वक्त दुनिया कोरोना वायरस से लड़ रहा था, लेकिन अपने मंसूबों को अंजाम देने में जुट गया। लेकिन सरहद पर तैनात भारतीय सैनिकों ने उनके मंसूबों को नाकाम कर दिया। भारत और चीन के बीच सरहद पर अप्रैल-मई से ही तनाव जारी है। कई जगहों पर भारतीय और चीनी सैनिक आमने-सामने मोर्चा डालकर डटे हैं

Comments are closed.