नागरिकता कानून को लेकर दिल्ली के मौजपुर और भजनपुरा में हिंसा, उपद्रवियों ने वाहनों और घरों में लगाई आग

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के मौजपुर और भजनपुरा से हिंसा की खबरें आ रही हैं. इसकी शुरुआत कल रविवार से हुई जब सीएए के विरोध में जाफराबाद में लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू किया और उसके जवाब में बीजेपी नेता ने सीएए के समर्थन में प्रदर्शन किया. इसके बाद विरोध और समर्थन करने वालों के बीच रविवार रात से ही पत्थरबाजी शुरू हो गयी जो आज सोमवार को भी जारी है.
ये विरोध प्रदर्शन पत्थरबाज़ी के बाद हिंसा में बदल गए. इसके बाद मौजपुर और भजनपुरा के प्रदर्शनकारियों ने मौके पर खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इस हिंसा में दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्सटेबल की मौत हो गई. जबकि शाहदरा के डीसीपी घायल हो गए. हालात बेकाबू होता देख अब घटनास्थल पर अर्द्धसैनिक बल को बुलाया गया है.
बताया जा रहा है कि सीएए को लेकर दो पक्षों में जबरदस्त झड़पें हुई. दोनों तरफ से एक-दूसरे पर जमकर पत्थरबाजी की. यहां तक कि फायरिंग भी हुई. वहीँ हालात बेकाबू होता देख पुलिस को भी एक्शन लेना पड़ा. इस बीच हिंसा में उपद्रवियों ने कई घर भी जला दिए. हालात लगातार तनावपूर्ण बने हुए हैं.
वहीं झड़प की खबरों के बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया है जिसमें मौजपुर से जाफराबाद वाली सड़क पर एक लड़का हाथ में तमंचा लेकर फायरिंग करता हुआ दिख रहा है. यह लड़का पुलिस के सामने फायरिंग कर रहा था. इस लड़के ने तकरीबन 8 राउंड फायरिंग की. पुलिसवालों ने लड़के को रोकने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं रूका और ताबड़तोड़ फायरिंग करता रहा.
इस बीच दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्लीवालों से शांति की अपील की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सभी दिल्लीवासियों से अपील है कि शांति बनाए रखें. हिंसा में सबका नुक़सान है. हिंसा की आग सबको ऐसा नुक़सान पहुंचाती है जिसकी भरपाई कभी नहीं हो पाती.

Comments are closed.