पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने वाली अमूल्या ने किया सनसनीखेज खुलासा, कहा इस आदमी के कहने …

किसके कहने पर अमूल्या ने लगाये पाकिस्तान के नारे! बेंगलुरु में असदउद्दीन ओवैसी की रैली के मंच से पाकिस्तान के नारे लगाने वाली अमूल्या बहुत बड़ा खुलासा किया है। अमूल्या ने कहा कि भारत विरोधी मुहिम में वो अकेली नहीं है। उसके पीछे बहुत बड़ी टीम है। बहुत सारी एडवायजरी कमिटियां हैं जो सलाह देती हैं कि कब और क्या बोलना है। स्पीट के लिए कंटेंट टीम रिसर्च कर रही हैं। बहुत सारे सीनियर एक्टिविस्ट इस काम में लगे हैं। ऐसे प्रोटेस्ट के लिए बैंग्लोर स्टूडेंट्स अलायंस बहुत मेहनत कर रहा है। अमूल्या ने ये सारे खुलासे एक वीडियो के माध्यम से किये हैं। उसका यह वीडियो वायरल हो रहा है।

नागरिकता संशोधन ऐक्ट (सीएए) के खिलाफ आयोजित एक रैली में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली अमूल्या न्यायिक हिरासत में है। कर्नाटक की सरकार ने उसे जमानत न दिये जाने की मांग की है। औवेसी की रैली के मंच से नारे लगाने से नाराज लोगों ने अमूल्या के घर हमला कर खिड़कियों के शीशे आदि तोड़ डाले। हालांकि घटना के बाद अमूल्या के पिता ने भी उसके बयान को आपत्तिजनक बताया था और उनकी आलोचना की थी। उन्होंने कहा था कि मैं अपनी बेटी के बयान को बर्दाश्त नहीं करूंगा। उनकी बेटी ने जो कुछ भी कहा या किया है वो बिल्कुल गलत है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लेकिन अब यह विडियो सामने आने के बाद उसके पिता भी कटघरे में हैं। क्योंकि वीडियो में अमूल्या को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि उसके माता-पिता भी ऐसा ही करने को कहते हैं।

ओवैसी के मंच से पाकिस्तानी नारे लगाने वाली अमूल्या एक स्टूडेंट ऐक्टिविस्ट हैं और वह बेंगलुरु के एक कॉलेज से पत्रकारिता की पढ़ाई कर रही है।सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव अमूल्या मूल रूप से चिकमंगलूर की रहने वाली है। सीएए के खिलाफ बेंगलुरु में होने वाले छोटे-छोटे प्रदर्शनों के लिए सोशल मीडिया के सहारे समर्थन जुटाकर वह चर्चा में आई थी।


अमूल्या ने सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लैटफॉर्म्स जैसे, टिंडर, हुकअप आदि की भी मदद ली थी। अमूल्या ने अपने भड़काऊ भाषणों की मदद से इलाके में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों में एक खास जगह बना ली थी। इस वजह से उसे बड़े नेताओं वाले मंचों पर भाषण देने के लिए माइक थमा दिया जाता था।

Comments are closed.