पूरे 18 महीने बाद राहु-केतु ने बदली राशि, इन राशियों पर होगी धन की बारिश


राहु-केतु के राशि परिवर्तन का प्रभावः राष्ट्र में दुर्घटनाएं व लूटपाट की घटनाओं में वृध्दि का योग बनेगा। शेयर बाजार पर इन ग्रहों का प्रभाव दिखाई देगा तथा संक्रमण रोग में कमी का योग बनेगा।

मेष (Aries) लग्न राशिः 

मारक स्थान में छाया ग्रहों का भ्रमण में अप्रत्याशित घटनाएं होगी तथा अपमान का योग बनाएंगे। पिछले समय में हुए नुकसान की भरपाई हो सकती है। आप भाग्यशाली होंगे तथा धन संग्रह करने में सफल रहेंगे। आप इस समयकाल के दौरान त्वरित निर्णय लेंगे। आप आध्यात्मिक विचारधाराओं और दार्शनिक विचारों में रुचि  ले सकते हैं।

वृष (Taurus) लग्न राशिः

लग्न तथा सप्तम भाव में राहु-केतु अवसाद को बढ़ावा देंगे तथा साझेदारी में झटका लग सकता है। धन संबंधी कार्यों में सावधान रहें। दिखावे से बचें। बचत पर ध्यान देना होगा। आपको सरकारी सूत्रों से धन लाभ होगा। आपका पारिवारिक जीवन अशांति व दुखों से परिपूर्ण हो सकता है।  छात्रों की शिक्षा में विघ्न उत्पन्न होंगे।  घर और कार्यस्थल पर आपको एक जिम्मेदार व्यक्ति बनना होगा।

मिथुन (Gemini) लग्न राशिः

धार्मिक स्थलों की यात्राएं करने के योग बनेंगे तथा अचानक खर्चा होगा। गोचर के दौरान इस राशि के जातकों को कार्यक्षेत्र में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। वैवाहिक जीवन में परेशानियां आ सकती हैं। आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी। इस दौरान अपनी और अपने परिजनों की सेहत का विशेष ध्यान रखें। राहु के शुभ परिणामों के लिए भगवान गणेश को दुर्वा अर्पण करें।

कर्क (Cancer) लग्न राशिः

प्रथम संतान का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। खास मित्र नाराज हो सकता है। दाम्पत्य सुख में भी बाधा होगी। आप मनोरंजन व प्रसन्नता के साधनों का लुत्फ़ लेने पर काफी समय बिता सकते हैं। हालांकि यह आपको रोमांचित कर सकता है परंतु इससे आपको अच्छे परिणाम नहीं मिलेंगे।

सिंह (Leo) लग्न राशिः 

सिंह लग्न वालों के बच्चों को सफलता हासिल होगी तथा उटके हुए कार्य संपन्न होंगे। जीवनसाथी के साथ गलतफहमियां बढ़ सकती हैं। छात्रों के लिए उत्तम समय है। व्यापार में तरक्की मिल सकती है। नौकरीपेशा वालों को प्रमोशन मिल सकता है।पति और पत्नी के बीच चल रही ग़लतफ़हमी आसानी से दूर हो जाएगी

कन्या (Virgo) लग्न राशिः 

इस लग्न के जातकों को असफलता हासिल होगी। भाग्य काम आएगा। आप नई चुनौतियों को स्वीकार करने के लिए उत्सुक रहेंगे और आखिरकार नए कीर्तिमान स्थापित करने में आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। वाहन या भूमि की खरीदारी शुभ मुहूर्त में ही करें।

तुला (Libra) लग्न राशिः 

विनियोग में अप्रत्याशित हानि हो सकती है। प्रत्येक कार्य में बाधा आएगी। दुर्घटना ग्रसित हो सकते हैं। आत्मविश्वास में कमी आ सकती है। अध्यात्म की ओर झुकाव बढ़ेगा। यदि आप शराब या मांसाहार करते हैं तो आपको और भी कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। आप अपनी वाणी की सौम्यता खो सकते है, जिससे घर, परिवार, प्रेम, मित्र और सहकर्मियों से रिश्ते खराब हो सकते हैं।

वृश्चिक (Scorpio) लग्न राशिः 

दाम्पत्य जीवन में अचानक तनाव तथा अलगाव हो सकता है। धर्म के प्रति आस्था बढ़ेगी। मोह-माया से लगाव भंग हो सकता है। धर्म और वैराग्य की ओर झुकाव बढ़ेगा।  वैवाहिक जीवन में तनाव की स्थिति पैदा होगी। साझेदारी के कार्यों में सावधानी बरतें, अपने स्वस्थ्य के प्रति सचेत रहें। भगवान भैरव के रोजाना दर्शन से राहु के शुभफलों की प्राप्ति होगी।

धनु (Sagittarius) लग्न राशिः

अचानक दुर्घटना घटित होने का योग बनेगा। नेश की लालसा जाग्रत हो सकती है। राज में दंडित भी हो सकते हैं। कार्यक्षेत्र और बिजनेस में परिस्थितियां आपके अनुकूल नहीं होंगी। किसी अजनबी से अनबन हो सकती है।  प्रेम और वैवाहिक जीवन में तनाव बढ़ेगा, क्रोध और उग्रता बढ़ेगी, लेकिन परिश्रम के उचित परिणाम भी मिलेंगे।  

मकर (Capricorn) लग्न राशिः

प्रथम संतान का अवसाद ग्रसित होने का योग बनेगा। स्वयं का स्वास्थ्य नरम रह सकता है। अनावश्यक खर्च बढ़ सकते हैं। लंबी दूरी की यात्राओं का योग बन सकता है। सेहत का ध्यान रखें। आपको ध्यान से आर्थिक फैसले लेने होंगे। आपके शत्रु आपके ऊपर हावी रहेंगे। उनसे सावधान रहने की आवश्यकता है।

कुम्भ (Aquarius) लग्न राशिः

 स्थायी विनियोग का योग बनाएंगे। अपूर्ण योजना पूर्ण होने का योग बनेगा। माता के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित रहेंगे, सरकारी या कानूनी दाव-पेंच में उलझने की संभावना है। जमीन और संपत्ति से जुड़े कार्यों में हानि की संभावना है, संतान से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। भाई-बहनों संग रिश्ते मजबूत होंगे। कार्यक्षेत्र में तरक्की मिल सकती है।

मीन (Pisces) लग्न राशिः

संपदा बढ़ने का योग बनेगा। धार्मिक यात्रा आपके लिए राह कष्टदायक हो सकती है। कार्यक्षेत्र में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। विरोधी आपकी छवि को खराब करने की कोशिश करेंगे।  मीन के लिए राहु का गोचर कुंडली के तीसरे भाव में होने जा रहा है। इस दौरान आपकी कार्य कुशलता में इजाफा होने की संभावना है, आप स्पष्ट और बेहतर ढंग से निर्णय लेने में सक्षम होंगे।

Comments are closed.