महिलाओं के जननांगों के लिए जरुरी है कीगल एक्सरसाइज, जानें इसके फायदे और करने का तरीका

महिलाओं के लिए कीगल एक्सरसाइज काफी ज्यादा पॉपुलर होती जा रही है। अक्सर महिलाएं कीगल एक्सरसाइज को अपनी पेल्विक फ्लोर की मसल्स को मजबूत करने के साथ ही योनि को टाइट करने के लिए भी करती हैं कीगल एक प्रकार की बेहद सरल एक्सरसाइज होती है जो कि पेल्विक फ्लोर की मसल्स को मजबूती प्रदान करने के लिए की जाती है।

क्या होती है ये एक्सरसाइज:

कूल्हों के बीच का स्थान पेल्विक कहलाता है। पेल्विक फ्लोर के कमजोर होने के कारण शरीर की ब्लैडर और मूत्राशय की पकड़ कमजोर हो जाती है। एक बार कीगल एक्सरसाइज सीखने पर आप उसे कभी भी और कहीं भी कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको विस्तार से बताने जा रहें कि कीगल एक्सरसाइज क्या होती है और कैसे की जाती है।

क्या है इसका कारण:

# महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए ही कीगल एक्सरसाइज करना फायदेमंद होता है। बहुत सारी चीजों जैसे- गर्भधारण, शिशु को जन्म देने, बढ़ती उम्र और वजन बढ़ने के कारण महिलाओं का पेल्विक फ्लोर कमजोर हो जाता है।

# पेल्विक फ्लोर की मसल्स गर्भाशय, ब्लैडर और बोवेल को सहारा देती है। अगर पेल्विक फ्लोर की मसल्स कमजोर हो जाती है तो महिलाओं की वेजाइना में पेल्विक फ्लोर भी नीचे हो जाता है जो कि अत्यधिक असुविधाजनक होता है और इससे मूत्र रोकने में परेशानी पैदा होने की समस्या हो जाती है।

# बढ़ती उम्र के साथ पुरुषों को भी पेल्विक फ्लोर कमजोर होने की समस्या पैदा हो सकती है। इससे पेशाब करने और पॉटी करने में परेशानी होती है और यह समस्या उन पुरुषों को ज्यादा होती है जिनकी प्रोस्टेट सर्जरी हो चुकी होती है।

कैसे करें ये एक्सरसाइज:

# कीगल एक्सरसाइज करते समय ब्लैडर एकदम खाली कर लें यानि शरीर में यूरिन नहीं होना चाहिए अन्यथा यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की समस्या पैदा हो सकती हैं।

# कीगल एक्सरसाइज करने के लिए आपका ब्लैडर एकदम खाली होना चाहिए यानि पेशाब करने के बाद ही यह एक्सरसाइज करें।

# पेल्विक फ्लोर की मसल्स को टाइट करें और टाइट करके ही मन में 8 तक गिनें।

# 10 तक गिनते हुए मसल्स को रिलेक्स करें। दिन में तीन बार 10- 10 के सेट में इसका अभ्यास करें।

Comments are closed.