महिलाओं के बैंक खाते में 1 लाख रुपये डाल रही मोदी सरकार? जानिए सच्चाई

 सोशल मीडिया पर कोरोना काल में कई सारे ऐसे मैसेज वायरल होते हैं, जो कि वास्तव में सच नहीं होते हैं. ऐसे ही फेक न्यूज की वजह से कई बार लोगों को परेशानी हो जाती है. हाल के दिनों में कई ऐसे मैसेज या फिर पोस्ट फेसबुक और वाट्सऐप पर वायरल हुए हैं जिनका फैक्ट चेक करने के बाद पता चला है कि वो पूरी तरह से फर्जी हैं. 

ऐसा ही एक मैसेज आजकल वायरल हो रहा है, जिसमें कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार महिला स्वरोजगार योजना के तहत सभी महिलाओं के खाते में एक लाख रुपये ट्रांसफर करने जा रही है. हालांकि ये मैसेज पूरी तरह से फर्जी है, क्योंकि सरकार की तरफ से इस तरह की कोई घोषणा नहीं की गई है. 

भारत सरकार की संस्था पीआईबी ने इस वायरल मैसेज की सच्चाई की जांच कर अलग ही खुलासा किया है. पीआईबी फैक्ट चेक की टीम ने बताया कि यह दावा फर्जी है. केंद्र सरकार द्वारा महिला स्वरोजगार जैसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है

सरकार ने नहीं लिया कोई इस तरह का फैसला
कोरोना काल में देशभर में जिस तरह का हालात बने हुए हैं ऐसे में कई फेक खबरें तेजी से वायरल हो रही हैं. भारत सरकार की प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ने वायरल खबर का खंडन करते हुए कहा है कि सरकार ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है. सरकार ने भी कोरोना काल में इस तरह की फर्जी ख़बरों को फैलने से रोकने के लिए कई प्रयास किए हैं.


Comments are closed.