राम रहीम जेल से बाहर: गुरुग्राम में दिन भर रहे बाबा राम रहीम, 12 दिनों बाद खुला ये राज तो लोग हुए हैरान

0

डेरा प्रमुख राम रहीम की फाइल फोटो।

साध्वी से दुष्कर्म में सजायाफ्ता बाबा राम रहीम 24 अक्टूबर को सुबह से शाम तक गुरुग्राम के नामी अस्पताल में रहा। इस दौरान मीडिया को भी इसकी भनक नहीं लगी। पूरे 12 दिनों बाद मामले का खुलासा तो गुरुग्राम के लोगों के साथ मीडियाकर्मी भी हैरान हैं। बता दें कि पूर्व डेरा प्रमुख बाबा राम रहीम साध्वी से दुष्कर्म में रोहतक जिले की सुनारिया जेल में कड़ी सजा काट रहा है।

मिली थी एक दिन की पैरोल

बताया जा रहा है कि बाबा राम रहीम एक दिन की पैरोल पर वह अपनी 90 वर्षीय बीमार मां से मिलने गुरुग्राम केे नामी अस्पताल आया था। इस दौरान वह 24 अक्टूबर की सुबह से लेकर शाम तक अस्पताल में अपनी मां के साथ रहा, लेकिन इसकी भनक प्रशासनिक अधिकारियों को भी नहीं लगी। मिली जानकारी के मुताबिक, 24 अक्टूबर की सुबह रोहतक जिला पुलिस डेरा प्रमुख राम रहीम को सुनारिया जेल से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच गुरुग्राम लेकर गई और फिर देर शाम वापस गुरुग्राम से रोहतक जेल ले गई। यह भी जानकारी मिली है कि राम रहीम को इस दौरान पुलिस की तीन कंपनियों की सुरक्षा दी गई थी और किसी को इसकी भनक भी नहीं लगने दी गई।

 

बताया जा रहा है कि दुष्कर्म मामले में सजा काट रहे डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को यह पैरोल गोपनीयता बरतते हुए दी गई थी। इसके तहत उसे प्रशासन ने 24 घंटे के लिए सीक्रेट पैरोल पर रोहतक की सुनारिया जेल से बाहर निकाला था। राम रहीम की पैरोल के बारे में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत सिर्फ आला आधिकारियों को ही जानकारी थी। वहीं, हरियाणा के जेल मंत्री रणजीत सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि इसकी जानकारी उन्हें थी।

गुरुग्राम पुलिस प्रशासन से साधी चुप्पी

इस मामले का खुलासा होने पर गुरुग्राम जिला प्रशासन के साथ पुलिस प्रशासन के आलाधिकारी भी कुछ बोलने से परहेज कर रहे हैं। मीडिया के पूछने पर कोई भी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। यहां पर बता दें कि गुरमीत राम रहीम दो युवतियों से दुष्कर्म का दोषी है और अभी रोहतक की जेल में सजा काट रहा है। उसे पंचकुला कोर्ट ने सजा सुनाई थी, तब से वह जेल की सजा काट रहा है।

Whatsapp पर शेयर करें

Leave A Reply

Your email address will not be published.