Navratri 2020: नवरात्रि में इस दिन चढ़ाना चाहिए ये भोग, सारी मनोकामना पूरी करेंगी मां दुर्गा

 शारदीय नवरात्रि इस बार 17 अक्‍टूबर 2020 दिन शनिवार से शुरू हो रही है. 25 अक्टूबर 2020 तक नवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा. इसमें भक्तगण मां के नौ स्वरुपों की पूजा करते हैं. इस बार की शारदीय नवरात्रि काफी महत्‍वपूर्ण है, क्‍योंकि पूरे 58 साल बाद इस बार शनि, मकर में और गुरु, धनु राशि में होंगे.

साल 1962 में इससे पहले यह संयोग बना था. शारदीय नवरात्रि आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को शुरू होगी. 17 अक्टूबर को कलश स्‍थापना होगी. इसका शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 27 मिनट से 10 बजकर 13 मिनट तक है. हम आपको बताते हैं कि नवरात्रि में किस दिन मां को कौन सा भोग लगाने से शुभ होता है.

पहला दिन- नवरात्रि के पहले दिन मां के चरणों में गाय का शुद्ध देशी घी अर्पित करने से आरोग्य का आशीर्वाद मिलता है.

दूसरी दिन- नवरात्रि के दूसरे दिन दुर्गा मां को शक्‍कर का भोग लगाया जाता है. इसके बाद उसे घर के सभी सदस्यों में बांटने से आयु में वृद्धि होती है.

तीसरा दिन-  तीसरे दिन देवी मां भगवती को दूध अथवा खीर का भोग लगाने के बाद ब्राह्मणों को दान किया जाता है. ऐसा करने से जीवन में सुख-समृद्धि का वास होता है.

चौथा दिन-  चौथे दिन मां दुर्गा को मालपुए का भोग लगाने के बाद जरूरतमंदों को मालपुए को दान करते हैं. ऐसा करने से व्‍यक्ति की बुद्धि बढ़ती है.

पांचवा दिन- नवरात्रि के पांचवें दिन मां दुर्गा को केले का भोग लगाते हैं. इससे जातक निरोगी रहता है.

छठा दिन- छठवें दिन मां दुर्गा को शहद का भोग लगाया जाता है. ऐसा करने से आकर्षण भाव में बढ़ोतरी होती है.

सातवां दिन- सातवें दिन देवी मां को गुड़ का भोग लगाने के बाद यह भोग निराश्रितजनों तथा दिव्‍यांगों को बांटा जाता है. ऐसा करने से मां प्रसन्‍न होती हैं तथा आपको ऐश्‍वर्य और वैभव देती हैं.

आठवां दिन- आठवें दिन दुर्गा मां को नारियल का भोग लगाएं और उस नारियल को दान करें. संतान संबंधी सभी परेशानियों से ऐसा करने पर राहत मिलती है.

नौंवे दिन- नवरात्रि के नौंवे दिन मां दुर्गा को तिल का भोग लगाकर यह भोग जरूरतमंद को दान देना चाहिए. ऐसा करने से अकाल मृत्‍यु से राहत मिलती है.

Comments are closed.